BA P/Time Yr 1 – Class 1 & 2

शनीवार 10 सितम्बर 2011.

बी.ए. 1

प्रिय छात्रो व साथियो,

सादर नमस्कार.

इस कक्षा के अधिकतर लोगों को पहले पढ़ा चुका हूँ, कुछ ही नए लोग है. आप तीन नई छात्राओं  का विशेष स्वागत.

ब्लॉग में उपस्थित आपकी कक्षा की category में पहले से ही आपका module information sheet भेज दिया गया है.

इसी से आपको दिशा मिलेगी.

पहली कक्षा में परिचय के साथ साथ, सामान्य चर्चाएँ हुईं.

यह मॉड्यूल दो शिक्षक आपको पढ़ा रहे हैं – स्वयं मैं और श्री अरविंद बिसेसर. मॉरीशसीय हिंदी साहित्य के पहले हिस्से में मैं आपको मॉरीशसीय हिंदी कहानियाँ (पाठ्य पुस्तक: “वसंत चयनिका”) और दूसरे हिस्से में आपको “हम प्रवासी” (अभिमन्यु अनत) पढ़ाऊँगा.

I have already distributed the class into groups for the presentations of the short stories. Divya Teeluck is alone in her group, so the task is a bit harder, but i know she will manage.

feel free to ask any question.

next time, we shall work on the background of mauritian hindi literature.

please come prepared.

and do keep sending your comments.

खुश रहिए.

सादर,

विनय

About Vinaye Goodary
senior lecturer in Hindi at the Mahatma Gandhi Institute, moka, mauritius. innovative in teaching using ICT, blogs and multimedia resources. interest in arts, culture, history and literature. शेष तो मैं ही मैं हूँ... स्वागत है.

7 Responses to BA P/Time Yr 1 – Class 1 & 2

  1. disha luchun says:

    पहली कक्षा बहत अच्छे से बिती, बस कुछ थके से थे, पह्ले ही दिन assignment मिल गया, परंतु थीक है, अभी से ही मेहनत करेंगे ताकि अंत में हमारा काम पूरा हो पाए, वक्त लेकर काम थीक से कर पाए…..

  2. kritee Devi Ramphul says:

    namaster guruji
    jald hi aapko hindi mein feedbk dougi .
    anyatha paheli kaksha mein aapner to hamein bahut bara karya somp diya hai.
    aasha hai ki ous ko pouran kar payeinger.

  3. siddhi says:

    नमस्ते गरूजी
    हमारी पहली कक्षा दिलचस्प थी . हम लोगों को नेट के बारे पर काफी जानकारी मिली . और मैं इस क्षेत्र में ज्यादा जानकारी प्राप्त करने की इच्छा रखती हूँ मुझे खुशी हुई कि आपका website फिर से काम कर रहा है क्योंकि यह website बहुत लाभदायक है .

  4. teena caumul says:

    namaste Guruji. apki pehli kaksha ACE kaksha ke barabar thi. main utni hi prabhavit hui thi jitna ki ACE ki kaksha mein thi. aasha karti houn ki net ke baare mein aisi hi jaankariyan milti raheingi. dhanyavaad Guruji.

  5. Sunaina Devi Joypaul says:

    Namaste guruji ,
    deri ke liye mafi mankti huin,apki pehli kaksha mein main thodi si chup thi kyunki mein kaksha mein sab se choti hun aur pehli baar apka kaksha tha isi liye ab thoda thik hain aaj aap nahi aye to guruji Arvin kam karne aye!!!Asha hain ki hum assignment ko puri kar sakte hain kyunki humme sab se lambikahani mili.Dhanyavaad guruji

  6. disha luchun says:

    नमसते गुरुजी, आप कैसे है? आज की क्लास थीक से चली, गुरुजी अर्वींद आए थे और मुनिश्वरलाल चिंतामनी के बारे पर चर्चा हुई, उनके काव्य स्ंग्रह पर प्रकाश डाला, स्वतंत्र पूर्व के काव्य कैसे थे और अब कैसे हैंम, उन पर चर्चा की गयी…..

  7. Pingback: हवाओं में ऐसी ख़ुशबू पहले कभी न थी | Gujaratisahityaa

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: