महात्मा गाँधी संस्थान में गाँधी जयंती : पुष्पार्पण समारोह

02 अक्तूबर 2011, 9.30 बजे, एम.जी.आई, मॉरीशस

गाँधी जयंती के उपलक्ष्य पर प्रति वर्ष इसी तिथि को महात्मा गाँधी संस्थान के प्रांगण में गाँधी जी की मूर्ति के समक्ष पुष्पहार समारोह का आयोजन होता है. इस बार भी रविवार 2 अक्तूबर 2011 को यह समारोह कला एवं संस्कृति मंत्री माननीय मुकेश्वर चुनी जी तथा अन्य महानुभावों की उपस्थिति में संपन्न हुआ. इस समारोह में भारतीय उच्चायुक्त माननीय सीताराम जी, गोपियो के अध्यक्ष श्री बुझावन जी, इंदिरा गाँधी भारतीय सांस्कृतिक केंद्र की अध्यक्षा, श्रीमती शौर, संस्थान के अध्यक्ष, श्री द्वारका जी तथा अन्य अतिथि गण उपस्थित थे. इसके साथ ही संस्थान के सभी सदस्य-कर्मचारी भी उपस्थित थे.

कार्यक्रम का आरंभ महात्मा गाँधी संस्थान के माध्यमिक विद्यालय के छात्रों द्वारा प्रातःकालीन प्रार्थना से हुआ. इसके पश्चात, संस्थान के शिक्षकों व संगीत तथा नृत्य विभाग के कलाकारों द्वारा बापू के दो प्रिय भजन – “वैष्णव जनतो” तथा “रघुपति राघव राजा राम” गाए गए जिनके लय में उपस्थिति सभी लोग प्रवाहित होते गए.

तत्पश्चात भगवत गीता से, बौद्ध धार्मिक ग्रंथ से, बाइबल से तथा पाक-कुरान से स्नातक के छात्रों ने प्रार्थनाएँ सुनाईं.

अंत में उपस्थित अनेक महानुभावों द्वारा गाँधी की प्रतिमा पर पुष्पहार अर्पित किए गए.

About Vinaye Goodary
senior lecturer in Hindi at the Mahatma Gandhi Institute, moka, mauritius. innovative in teaching using ICT, blogs and multimedia resources. interest in arts, culture, history and literature. शेष तो मैं ही मैं हूँ... स्वागत है.

3 Responses to महात्मा गाँधी संस्थान में गाँधी जयंती : पुष्पार्पण समारोह

  1. parinita says:

    महात्मा गांधी जी के आदर्श एवं सिद्दांतों को इस २१शतब्दी में अवश्य धारण कर्न है.महात्मा गांधी जी के आदर्श एवं सिद्दांत हमें प्रोत्सान करते हैं कि छोटे से उम्र में ही व्यक्ति अपने जीवन के लक्ष्य को निर्धारित करके जीवन के उतर-चढ़ाव को पार करके जीवन को सफलता की शिखर चढ़ें………………………………..

  2. L= MG ( LIFE is MAHATMA GANDHI ! ) यह प्रभावशाली बात था जो हमारे मन मस्तिस्क पर छा गया । महात्मा गांधि एक मात्र व्यक्ति हुए जिन्होने अहिंसा, सत्य आदि गुनों से संसार पर छा गये । उनके सम्मान के लिये कुछ भी केहना कम ही होगा ! जय हो बापू ! जय हो !

  3. mahatma gandhi is a father on nation. He did satyagrah for freedom. gave constructive programme for development.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: