Lecture 10 – काव्य हेतु (contd)

Friday 04 Oct 2011, 09.30 – 11.00

नमस्कार साथियो.

आज की कक्षा पिछली कक्षा पर एक पुनरावृत्ति के साथ आरंभ की गई. मुझे इस बात का गर्व और प्रसन्नता है कि ब्लॉग के माध्यम से आपके शिक्षण में प्रवाहमयता आ रही है. साथ ही इसके माध्यम से आप अपनी तैयारी भी करने में सक्षम हो रहे हैं. यूँ ही सक्रिय रहें, इसमें आप लोगों का ही लाभ है.

इस बार हमने काव्य हेतु के विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाले. मैंने अनेक उदाहरणों के माध्यम से आपको सझाया कि किस  प्रकार से काव्य-रचना में प्रतिभा की अनिवार्यता होती है. कवि अपने पूर्व-जन्म के संस्कारों के आधार पर काव्य-सृजन करने में सफल होता है. इसे अनेक विचारकों ने एक शक्ति के रूप में देखा तो पाश्चात्य विद्वान प्रतिभा को कल्पनाशीलता के रूप में देखते हैं, याद रहें पश्चिम में जन्म-पुनर्जन्म की अवधारणा नहीं है इसीलिए प्रतिभा को पूर्व-जन्म के संस्कार के रूप में इसे परिभाषित नहीं किए.

साथ में मैंने यह भी बताया कि Dr Brian Weiss, जो एक प्रसिद्ध मनोवैज्ञानिक है, और जिन्होंने Many Lives, Many Masters, Same Soul Many Lives आदि पुस्तकें लिखी हैं,उनका मानना है कि पूर्व-जन्म नि:संदेह एक यथार्थ है. शेष आप इंटरनेट से सामग्री प्राप्त कर सकते हैं. पुनर्जन्म पर अनेक साइट है जैसे विकिपेडिया से:http://en.wikipedia.org/wiki/Rebirth_(Buddhism)

बाकी, मैंने आपसे कहा था कि काव्य हेतु पर नोट्स बाद में भेजूँगा.

Work for next week: 

1. to write a poem, any topic of your choice, based on the basic concepts of poetry writing and features of hindi poetry before our next class & Post it on the blog. This is part of your assignment.

2. I shall distribute a poem “वह तोड़ती पत्थर” by निराला where you will be required to analyse in class next time.

धन्यवाद और गंगा-स्नान पर्व की मंगलकामनाएँ आपको और आपके परिवार को भी.

 

 

 

 

About Vinaye Goodary
senior lecturer in Hindi at the Mahatma Gandhi Institute, moka, mauritius. innovative in teaching using ICT, blogs and multimedia resources. interest in arts, culture, history and literature. शेष तो मैं ही मैं हूँ... स्वागत है.

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: